अगर परिणाम विपरीत निकला तो,गिरेगी दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा

दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर, परिणाम विपरीत रहा तो जमकर होगी शिकायतें

0
15

राजनांदगाव समाचार / निकाय चुनाव में प्रत्याशियों के साथ दिग्गज नेताओं की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। टिकट वितरण के दौरान कांग्रेस भाजपा दोनों में ही जमकर असंतुष्टि सामने आई थी, वहीं कुछ नेताओं पर मनमानी और अपने पसंदीदा प्रत्याशियों को टिकट दिलाने का भी अारोप लगा था, अगर परिणाम विपरीत रहा तो ऐसे नेताओं की मनमानी की शिकायत को लेकर भी तैयारी चल रही है।


दोनों ही दलों के पदाधिकारियों को भी चुनावी कमान संभालने की जिम्मेदारी दी गई थी, हाल ही में महापौर मधुसूदन यादव को भाजपा ने जिलाध्यक्ष बनाया। महापौर होने के नाते भाजपा की जीत का बड़ा दारोमदार उन पर ही है। महापौर के अलावा वेयर हाउस कार्पोरेशन के पूर्व अध्यक्ष नीलू शर्मा ने भी भाजपा की ओर से शहर के एक हिस्से में चुनावी कमान संभाले रखा, पूर्व महापौर शोभा सोनी, वरिष्ठ नेता खूबचंद पारख जैसे नेताओं की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई हैं। इधर कांग्रेस में भी यही स्थिति बनी हुई है। सत्ता में आने के बाद कांग्रेस में निकाय चुनाव जीतने का दबाव अधिक बढ़ गया है। प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने खुद संगठन पदाधिकारियों से लेकर नेताओं की बैठक ली, वहीं कांग्रेस नेत्री करुणा शुक्ला भी पूरे चुनाव में सक्रिय रही। अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान, शहर अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा सहित प्रथम पंक्ति के नेताओं को भी बड़ी जिम्मेदारी दी गई। परिणाम के बाद सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही असर इन नेताओं के कद पर पड़ने वाला है।

क्रांतिकारी संकेत वेब पोर्टल रिपोर्टर बने

7000170083

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें