प्रेमी की गला दबाकर की हत्या प्रेमिका को आजीवन कारावास

0
14

राजनांदगाव / प्रकरण का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि, चवलेश चुरेन्द्र पिता गुलाब सिंह चुरेन्द्र, उम्र 36 वर्ष निवासी ग्राम रेंगाकठेरा, थाना मोहला, जिला राजनाँदगाँव (छ.ग.) का ग्राम के ही महिला जागेश्वरी बाई आत्रमें पति स्व. राधेलाल आत्रमे, उम्र 33 वर्ष के साथ प्रेम संबंध था जिसके संबंध में गाँव में मीटिंग हुआ था जिसमें दोनों के मध्य आपस में समझौता हुआ कि, दोनों अलग-अलग रहेंगे। इसके बाद भी दोनों आपस में लुक-छिपकर मिलते थे। 16.11.2018 की रात्रि चवलेश चुरेन्द्र एवं जागेश्वरी बाई दोनों जागेश्वरी बाई के मौसा रामाधार पुरामें निवासी ग्राम ठाकुरटोला,थाना खड़गाँव के घर रूके थे, जहाँ चवलेश चुरेन्द्र द्वारा जागेश्वरी बाई के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना चाहा, जिस पर जागेश्वरी बाई गुस्से में आकर चवलेश चुरेन्द्र के गला को दबा दी जिससे उसकी मृत्यु हो गई।

हत्या करने के बाद जागेश्वरी बाई अपने मौसा रामाधार पुरामें, वाहन चालक चंदन सिंह पटेल, सूरज कुमार पुरामें एवं कुशल उसारे के सहयोग से मृतक चवलेश चुरेन्द्र एवं उसके मोटर सायकल को घटित घटना एवं स्थान को परिवर्तित करने के उद्देश्य से ग्राम ठाकुरटोला से अपने निवास स्थान ग्राम रेंगाकठेरा ले गई और गांव में मृतक चवलेश चुरेन्द्र की मृत्यु उसके घर में हार्टअटैक से हुई है, ऐसा प्रचारित कर दी। 18.11.2018 को मृतक के चाचा प्रार्थी कामता प्रसाद चुरेन्द्र की रिपोर्ट पर थाना मोहला द्वारा मामला जांच में लिया गया था तथा जाँच उपरान्त आरोपीगण जागेश्वरी बाई आत्रमे पति स्व. राधेलाल आत्रमे, उम्र 33 साल, रामाधार पुरामे पिता स्व. मिलोर सिंह, उम्र 45 साल, सूरज कुमार पुरामें पिता बुद्धु राम, उम्र 20 साल, कुशल उसारे पिता मनसुख उसारे, उम्र 21 साल एवं चंदन सिंह पटेल पिता स्व. बिकलू, उम्र 30 साल सभी निवासी ग्राम ठाकुरटोला, थाना खड़गाँव, जिला राजनाँदगाँव (छ.ग.) को चवलेश चुरेन्द्र की हत्या करना पाये जाने से गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया था तथा सम्पूर्ण विवेचना उपरान्त आरोपीगणों के विरूद्ध धारा 302, 201, 34 भादवि के तहत् अभियोग पत्र विचारण हेतु न्यायालय के समक्ष पेश किया गया था।
माननीय प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश राजनाँदगाँव पीठासीन अधिकारी ‘श्री शेख अशरफ’ द्वारा विचारण उपरान्त मामले में निर्णय घोषित कर आरोपिया जागेश्वरी बाई आत्रमे पति स्व. राधेलाल आत्रमे, उम्र 33 साल, निवासी ठाकुरटोला, थाना खड़गाँव के विरूद्ध हत्या का अपराध प्रमाणित पाते हुए धारा 302 भादवि के तहत् आजीवन करावास एवं 500 रूपये का अर्थदंड अर्थदंड की राशि अदा न किये जाने की स्थिति में अतिरिक्त करावास की सजा से दण्डित किये जाने का दण्डादेश पारित किया गया। सहअभियुक्तगण रामाधार पुरामें, सूरज पुरामें, कुशल उसारे एवं चंदन पटेल को अपराध प्रमाणित नहीं पाये जाने पर दोषमुक्त किया गया। मामले में छत्तीसगढ़ राज्य की ओर से अतिरिक्त लोक अभियोजक कुंजलाल साहू ने पैरवी की।

क्रांतिकारी संकेत वेब पोर्टल के रिपोर्टर बने
7000170083

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें